Beautiful Lines दीपावली पर निबंध 500 शब्दों में आसान तरीके से लिखे Essay on Diwali

दीपावली पर निबंध (essay on diwali): नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है आपके अपने वेबसाइट में आज हम आपको दीपावली पर निबंध (essay on diwali) लिखना सिखाएंगे जिससे आप आसानी से दीपावली पर निबंध लिख सकते हैं हम आपको इसी लेख में दीपावली की सारी जानकारी यहां पर उपलब्ध कराएंगे इससे आपको दीपावली की सारी जानकारी मिल जाएगी इसलिए आप हमारे इस लेख essay on diwali (दीपावली पर निबंध) के अंत तक बने रहिए

Mobile Recharge

Free Mobile Recharge

Default SIM Image
दीपावली पर निबंध (essay on diwali)
दीपावली पर निबंध (essay on diwali)

 

 

पूरे संसार में बहुत सारे त्यौहार आते हैं इस संसार में जितने भी जीव जंतु रहते हैं सभी को एक ना एक दिन खुशी का दिन आता है और उस दिन को त्यौहार कहते हैं इसी प्रकार मनुष्य का भी कई प्रकार के त्यौहार जैसे होली रक्षाबंधन ईद दीपावली आदि आते हैं और आज हम दीपावली पर बात करने वाले हैं और दीपावली पर निबंध (essay on diwali) अच्छा सा लिखते हैं तो शुरू करते हैं…

 

दीपावली पर निबंध (essay on diwali) 500 शब्दों में

दीपावली भारत का सबसे बड़ा त्यौहार है इस दिन को खुशियों का दिन भी कहा जाता है इस दीपावली के दिन चारों तरफ खुशियां ही खुशियां दिखाई देती है सभी लोगों के चेहरे पर खुशी होती है इस दिन भी जगह पर अवकाश रहता है दीपावली को सभी लोग मिलजुल कर बनाते हैं

 

★ परिभाषा

दीपावली हिंदुओं का एक धार्मिक त्यौहार है जिसे हिंदू धर्म के लोग संपूर्ण भारत में मनाते हैं इस त्यौहार को संपूर्ण भारत में लगातार पांच दिनों तक मनाया जाता है इसलिए इसे पांच दिवसीय उत्सव या त्योहार भी कहते हैं इस दिन एक नई दिन की शुरुआत होती है जिस प्रकार बुराई पर अच्छाई की जीत होती है और अंधेरे पर रोशनी की जीत होती है इसी प्रकार दीपावली के दिन एक नए दिन की शुरुआत होती है

 

★ दीपावली से कुछ दिन पहले

दीपावली का त्यौहार आने से कई दिनों पहले सभी लोग अपने अपने घरों की सफाई करने लग जाता है ताकि हमारा घर सबसे अच्छा दिखे और सभी लोग घरों की पुताई करते हैं घर के बाहर नालियों सड़कों आदि की सफाई करता है ताकि चारों तरफ सिर्फ सपा ही दिखे गंदगी ना देखें और सभी लोगों में खुशियां ही खुशियां हो और सभी लोग नए नए कपड़े बाजार से खरीदते हैं तो कहीं लोग नए कपड़े सिलवाते हैं और बच्चों के लिए पटाखे फुलझड़ियां चकरी आदि खरीद कर लाते हैं और बाजार से कई प्रकार की मिठाईयां भी बाजार से हर लाते हैं

 

★ दीपावली के दिन

जैसे ही दीपावली के दिन की सुबह होती है लोगों के चेहरे पर एक नई मुस्कान आ जाती है और सभी लोग अपने अपने घरों के बाहर दरवाजों पर माला लगाते हैं सभी का स्वागत करने के लिए और सभी लोग अपने घरों को सुबह-सुबह धोते हैं और अपने घरों में मूर्तियां सजाते हैं सभी लोग नहा धोकर नए कपड़े पहनते हैं और एक दूसरे के घर जाते हैं मिठाई लेकर। सभी लोग आपस में एक दूसरे को मिठाई जा खिलाते हैं वह एक दूसरे के घर मिठाईयां ले जाते हैं सभी दोस्त आपस में मिलते हैं सभी रिश्तेदार मिलते हैं

 

★ दीपावली की रात

जब दीपावली का दिन खत्म हो जाता है तो रात की शुरुआत होती है रात को यह दीपावली मनाई जाती है रात होने से पहले यानी शाम के समय सभी लोग अपने अपने घरों के बाहर दीपक जला कर रख देते हैं ताकि घरों के बाहर का चारों तरफ रोशनी ही रोशनी हो जाए और अंधेरे पर अच्छाई की जीत हो और सभी बच्च, भाई बहन, दोस्त, घर के सभी रिश्तेदार पटाखे फुलझड़ियां चकरिया आदि जलाते हैं और अपनी दीपावली का पूरा आनंद लेते हैं और सभी लोग एक दूसरे के घर जाते हैं मिठाइयां लेकर सभी को खिलाते हैं इस प्रकार अपनी दीपावली की रात गुजारते हैं

 

खूबसूरत 10 लाइन दीपावली पर निबंध (essay on diwali)

1. दीपावली भारत का सबसे बड़ा त्यौहार है
2. इस त्यौहार को भारत के संपूर्ण जगहों पर हिंदू धर्म के लोग मनाते हैं
3. इस दिन सभी सरकारी संस्थाओं का अवकाश रहता है
4. दीपावली के शुभ अवसर पर सभी के चेहरों पर खुशी होती है
5. सभी लोग अपने अपने घरों की साफ-सफाई करते हैं और घरों को सजाते हैं
6. रात के समय सभी बच्चे, बड़े, बूढ़े, जवान, औरतें फुलझड़ियां, पटाखे, चकरिया आदि जलाते हैं
7. सभी लोग अपने अपने घरों और सार्वजनिक जगह पर दीपक जलाते हैं ताकि अंधेरे में रोशनी का विजय हो
8. इस दिन माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं
9. चारों तरफ खुशियां ही खुशियां दिखाई देती है
10. सभी लोग एक दूसरे को आपस में मिठाइयां खिलाती हैं

 

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह दीपावली पर निबंध (essay on diwali) पसंद आया होगा और आप अब आसानी से दीपावली पर निबंध भी लिख सकते हैं आपको हमारा यह लेख कितना पसंद आया इसलिए आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं

Leave a Comment